कपालभाति की विधि लाभ सावधानियाँ kapalbhati ki vidhi our labh

 कपालभाति की विधि लाभ सावधानियाँ kapalbhati ki vidhi our labh   कपालभाति संस्कृत शब्द कपाल+भाति से बना है जिसका अर्थ है मस्तक की कान्ति (चमक या तेज़ ) या मस्तिष्क की स्व्छ्ता यहा प्राणायाम मस्तिष्क और उदर (पेट ) स्वस्थ रखने मे उपयोगी है कपालभाति की विधि लाभ सावधानियाँ निम्नलिखित है

कपालभाति की विधि लाभ सावधानियाँ kapalbhati ki vidhi our labh

कपालभाति प्राणायाम करने की विधि(Method of doing kapalabhati Pranayama)

सर्व प्रथम किसी ध्यानात्मक आसन जेसे सुखासन या पद्मासन मे बैठे और रीढ़ की हड्डी सीधी करे मन शांति मुद्रा मे रख कर नाक के दोनों छिद्रों से श्वांस पेट मे भर कर बाहर छोड़े इस प्राणायाम को अपनी क्षमता एवं आवश्यकता अनुसार करे प्रारम्भ मे पाँच मिनट से शुरुवात करे 30 मिनट तक करने से काफी लाभ दायक होता है इस प्राणायाम को आत लिवर किडनी आदि अंगो का व्यायाम भी माना जाता है कपालभाति की विधि लाभ सावधानियाँ kapalbhati ki vidhi our labh

कपालभाति के लाभ (Benefit)

  • हेमोग्ल्विन स्तर बढ़ता है
  • पाचन तंत्र मजबूत होता है
  • मस्तिष्क संबधित समस्याएँ दूर होती है
  • Fatty Liver की समस्याएँ खतम होती है
  • कैल्सियम आइरन और विटामिन डी विटामिन 12 की कमी दूर होती है
  • असंतुलित हार्मोन्स को संतुलित करता है
  • पुरुषप (प्रोस्टेट ) एवं महिला(अनियमित मासिक चक्र ) की योन संबन्धित समस्याएँ मे भी लाभ दायक है
  • कफ एवं स्वांश संबन्धित समस्याएँ मे भी लाभ दायक होता  है
  • ये शरीर के टाक्सिन ओर हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालता है
  • यह चिंता ओर डिप्रेसन जैसे  मानसिक समस्याएँ दूर करता है
  • यह बुद्धि और एकाग्रता बढ़ाता है
  • यह कैंसर जैसे बड़े रोगो से लड़ने मे काफी लाभदायक है कपालभाति की विधि लाभ सावधानियाँ kapalbhati ki vidhi our labh

सावधानियाँ (Precautions)

  • प्रदूषित वातावरण (धूल धुवा बदबू बंद एवं ग्रम स्थान )
  • मे न करे
  • खाली पेट होने पर करे कब्ज होने पर गर्म पानी पे कर कुछ देर बाद करे
  • अधिक बुखार कमजोरी या दस्त होने यहा प्राणायाम न करे
  • खाना के पाँच घंटे बाद इसे किया जा सकता है
  • वैरिकोसिल के मरीज ,एवं महिलाए मासिक चक्र और गर्भावस्था के दौरान न करे
  • दिन मे कई बार करने के लिए विशेषज्ञ के मार्ग दर्शन मे करे
  • हाई ब्लड प्रेसर, शुगर के मरीज और कमजोर व्यक्ति इस प्राणायाम को धीरे -धीरे करे

FQA

Ques-1 कपालभाति दिन मे कितनी बार करना चाहिए?

Ans-कपालभाति दिन मे अधिकतम दो बार कर सकते है वो भी खाली पेट

Ques-कपालभाति कितने मिनट तक करना चाहिए?

Ans-कपालभाति कम से कम पाँच मिनट और अधिकतम आधे घंटे पर्याप्त होता है

Ques-क्या मै  कपालभाति करने से पहले पानी पी सकता हु? 

Ans-कपालभाति करने के एक घंटे पहले ही पानी पिया जा सकता है इससे पानी का डाइजेसन हो चुका होता है और पेट भी साफ हो जाता है जिससे कपालभाति प्राणायाम और भी लाभ दायक होता है

Ques-क्या मै कपालभाति करने के बाद पानी पे सकता हु? 

Ans-किसी भी प्राणायाम करने के तुरंत बाद पानी पीना वर्जित है इस लिए कपालभाति प्राणायाम करने के एक घंटे बाद पानी पिया जा सकता है

Leave a Comment

हल्दी के पानी में छिपा है ये राज सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस दर्द से कैसे करे बचाव बेसन में छिपा है ब्यूटी का राज बहरापन होने के कारण फूल गोभी के डंठल में छिपा है ये राज प्याज के रस से बाल उगाने का तरीका पेट में कीड़े होने के लक्षण पपीता खाने खाने के फायदे आप को हैरत में डाल देंगे नाक से पानी आना कौन सी बीमारी है थायराइड की रोकथाम और घरेलू उपचार गेंदा फूल के फायदे कपालभाति के लाभ (Benefit) आप भी कब्ज से है परेशान तो करे ये उपाय The vaccine war विवेक अग्निहोत्री Iqoo 11 launch in india 10 दिन में मोटापा कैसे कम करें